Best Places To Eat In Fontainebleau, France, Minot Property Management, Bower Vs Npm Install, Life Of A Medical Student Singapore, Black And Decker Bypass Pruner, Brown Silk Background, "/> Best Places To Eat In Fontainebleau, France, Minot Property Management, Bower Vs Npm Install, Life Of A Medical Student Singapore, Black And Decker Bypass Pruner, Brown Silk Background, "/> nashpati ke fayde
9766542105
Digital thoughts!

nashpati ke fayde

nashpati ke fayde

Nashpati Pears in Hindi, नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान, नाशपाती पौष्टिक गुणों से भरपूर एक फल है जो आयुर्वेद में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। Note - यह लेख नाशपाती के बारे में आपको यह पोस्ट Pear Fruit In Hindi कैसी लगी। नाशपाती के फायदे (Nashpati Ke Fayde) और इसके पेड़ पर आपके विचार क्या है। यह पोस्ट Nashpati … डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ, नाशपाती के फायदे - Nashpati ke Fayde in Hindi, नाशपाती के फायदे है पाचन में सहायक - Pears Good for Digestion in Hindi, नाशपाती के लाभ वजन कम करने के लिए - Pears Reduce Weight in Hindi, नाशपाती के गुण करें कैंसर की रोकथाम - Pears for Cancer in Hindi, नाशपाती खाने के फायदे बढ़ाएँ प्रतिरक्षा - Nashpati ke Fayde for Immune System in Hindi, नाशपाती का सेवन करे हृदय रोगों को कम - Pears Good for Heart in Hindi, पियर बेनिफिट्स है घाव भरने में लाभकारी - Pears for Wound Healing in Hindi, नाशपाती खाने के लाभ बचाएँ एनीमिया से - Nashpati ke Gun for Anemia in Hindi, नाशपाती फल के फायदे हैं गर्भवती महिलाओं के लिए - Pears Benefits During Pregnancy in Hindi, सूजन को कम करने में सहायक है नाशपाती - Pears Good for Inflammation in Hindi, नाशपाती का उपयोग करें हड्डियों के लिए - Pears Good for Bones in Hindi, नाशपाती के औषधीय गुण रखें त्वचा को जवां - Pears for Skin Health in Hindi, नाशपाती करे घेंघा बीमारी को कम करने में मदद - Nashpati Khane ke Fayde for Goiter in Hindi, नाशपाती का प्रयोग मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा - Eating Pears Good for Diabetes in Hindi, नाशपाती बेनिफिट्स करें साँस से जुड़ी समस्या को ठीक - Nashpati ke Labh for Shortness Breath Problem in Hindi, नाशपाती के नुकसान - Nashpati ke Nuksan in Hindi, मसालेदार खाना करे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत, गोटू कोला है घाव को जल्दी भरने में लाभकारी, आयुर्वेद कहता है नई माताएं इन बातों पर देकर विशेष ध्यान करें अपनी देखभाल, सूर्य के प्रकाश के लाभ रखें हड्डियों को मजबूत, इस चमत्कारी मिश्रण से होंगी आँखों की झुर्रियाँ हमेशा के लिए दूर, च्यवनप्राश खाने के फायदे श्वसन प्रणाली के लिए. दूध में इलायची डालकर पीने के फायदे जो न केवल पाचन तंत्र मजबूत करे बल्कि एक टॉनिक के रूप में भी काम करता है, benefit of cardamom and milk hindi. नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi. नाशपाती के लाभ पढियें - Nashoati ke laabh padhiyen । । । । । । । । । । Share on Whatsapp . यह देखने में काफी हद तक हरे सेब जैसा लगता है. 2:13. नाशपाती के फायदे - Nashpati ke Fayde in Hindi. MISC USA. नाशपाती के फायदे गर्भावस्था में – Benefits of eating pears during pregnancy in hindi See a certified medical professional for diagnosis. by Sehat Gyan. ... Nashpati Ke Faiday ,Nashpati hamari sehat k leay kis trha faiday deti hai Urdu/ Hindi video. (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम), यदि आपकी त्‍वचा तैलीय है और आप इससे छुटकारा चाहते है तो आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है। आप एक पका हुए नाशपाती को मसल कर उसमें आधा चम्‍मच शहद और एक बडा चम्‍मच क्रीम का महीन मिश्रण तैयार करके उसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाकर बीस से पच्‍चीस मिनिट तक रहने दें। ये मिश्रण आपकी की त्‍वचा में उपलब्‍ध तेल को अवशोषित कर बाहर निकालने में आपकी मदद करेगा।, गले में खराश होने की स्थिति में आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि यह आपके गले की सूजन और उसमें होने वाली जलन को दूर करता है। आप नाशपाती के साथ थोडा शहद का उपयोग कर सकते है। नाशपाती गले से सं‍बंधित रोगो के उपचार के लिए अधिक उपयोगी होता है, ऐसी स्थिति में आप दिन में दो बार नाशपाती के जूस का उपयोग कर सकते है। (और पढ़े – गले की खराश को ठीक करने के घरेलू उपाय), बहुत से लोग पेट की खराबी से परेशान रहते है, साथ ही साथ वे मतली और उल्‍टी से परेशान रहते है। ऐसी स्थिति में नाशपाती का सेवन करने से उन्‍हें इन परेशानियों से निजात मिल सकती है। (और पढ़े – खराब पेट को ठीक करने के घरेलू उपाय), जब भी बालों के पोषण की बात आती है तो नाशपाती को छोड़ा नही जा सकता। नाशपाती स्‍वस्‍थ्‍य और पोषित बालों को बनाने की क्षमता रखता है। क्‍योंकि नाशपाती में ‘शर्बिटोल’ या ‘ग्‍लूसिटोल’ नामक एक प्राकृतिक एलकोहल पाया जाता है जो बालों की जड़ो में जाकर बालों को मजबूत करता है और इन्‍हें स्‍वस्‍थ रखता है। यदि आप के बालों से चमक जा चुकी है तो आप चिंतित ना हो नाशपाती आपके बालों की चमक बापस लाने में आपकी मदद करेगा, आपको सिर्फ एक पका हुआ नाशपाती, सेब का सिरका और दो बडे चम्‍मच पानी को मिलाकर अपने बालों में लगाना है जिससे आपके बालों में नई चमक आजाएगी।, ऊपर आपने जाना की नाशपाती के फायदे गुण लाभ अनेक है फिर भी नाशपाती बेशक हमारे लिए बहुत उपयोगी फल है पर स्वाभाविक है कि इसमें गुण है तो दोष भी होगे, लेकिन आपको बता दे कि अभी तक नाशपाती के सेवन से कोई दुष्‍प्रभाव की जानकारी नहीं मिली है। वैसे तो नाशपाती खाने की कोई उम्र या सीमा नही है मतलब बच्‍चा या बुजुर्ग कोई भी व्‍यकित इसका सेवन कर सकता है। पर फिर भी हमें नाशपाती का सेवन करते समय कुछ सावधानियां रखना जरूरी होता है।, • नाशपाती का सेवन करने से पहले यह देख ले कि नाशपाती सही तरह से पका है या नही। • बाजार से नाशपाती खरीदते समय अच्‍छे से देखकर, छूकर ही लें क्‍योकि वे पकने पर अपना रंग नहीं बदलते। • नाशपाती को ठंडे स्‍थान पर स्‍टोर करना चाहिए। • नाशपाती का सेवन करने से पहले उसे घोकर उपयोग करना चाहिए साथ साथ ही उसके छिल्‍के नहीं उतारना चाहिए क्योंकि इसमें पोषक तत्व अधिक मात्रा उपलब्ध होते है • एक बार नाशपाती को काटने के बाद, ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती भूरे रंग में तेजी से बदलने लगता हैं। इसलिए इसका सेवन काटने के बाद तुरंत ही करें। • काटने के बाद ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती के भूरे रंग को रोकने के लिए, इसके टुकड़ों में कुछ नींबू का रस लगा सकते है। • अगर आपको नाशपाती के सेवन के बाद पेट में दर्द या सुजन का अनुभव होता है तो इसका उपयोग ना करें।, अस्वीकरण healthunbox.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गयी हैं। हमारा आपसे विनम्र निवेदन हैं की किसी भी सलाह / उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। आपके चिकित्सक को आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानकारी होती हैं और उनकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है. Aug 7, 2016 4:53 pm. नाशपाती पोटेशियम का एक बहुत ही बढ़िया उदाहरण है, जिसका मतलब है कि नाशपाती का हृदय स्वास्थ्य पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है, क्योंकि पोटेशियम एक प्रसिद्ध वेदोडिलेटर (छोटी रक्‍तवाहिकाओं को बड़ा करने वाली औषधि) है। इसका मतलब यह है कि यह रक्तचाप को कम करता है, जिससे पूरे कार्डियोवस्कुलर सिस्टम में तनाव कम हो जाता है। इसके अलावा, इससे शरीर के सभी हिस्सों में रक्त का प्रवाह बढ़ता है, जो अंगों को ऑक्सीजन देता है और अपने प्रभावी कार्य को बढ़ावा देता है। रक्तचाप का कम होना अथेरोस्क्लेरोसिस (धमनियाँ सख्त होना), हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी हृदय रोगों की कम संभावना से भी जुड़ा हुआ है। अंत में, पोटेशियम शरीर में एक द्रव नियामक के रूप में काम करता है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर के विभिन्न हिस्सों को हाइड्रेटेड रखता है और कोशिकाओं और अंगों में आवश्यक द्रवों के संतुलन को सुनिश्चित करता है। पोटेशियम के बिना, हमारे सबसे ज़रूरी कार्य धीमे या पूरी तरह बंद हो जाएंगे! खाने में मीठा नाशपाती मोटे छिलके वाला होता है. नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi 2. अनुवादक – Shabnam Khan. नाशपाती एक लोकिप्रय फल है। नाशपाती दुनिया भर में कई संस्कृतियों का फल के रूप में एक अभिन्न हिस्सा है और यह रसीला फल बहुत अधिक न्यूट्रिशनल और औषधीय लाभ प्रदान करता है। यह फल रोज़ेशी (Rosaceae) परिवार का सदस्य है।, यह फल उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप और एशिया में सबसे पहले उगाया गया था। भारत में नाशपाती की खेती उत्तर प्रदेश, पंजाब और कश्मीर में की जाती है। यह हजारों सालों से अंतर्राष्ट्रीय आहार का एक हिस्सा रहा है। इसका पौधा समशीतोष्ण (temperate) जलवायु में अच्छी तरह से बढ़ता है। यह एक मध्यम ऊंचाई वाला पेड़ होता है। इसकी कुछ प्रजातियां झाड़ जैसी होती हैं, जिनकी ऊंचाई अधिक नहीं होती है। नाशपाती की कई किस्मों का उपयोग सजावटी पेड़ों और झाड़ियों के रूप में किया जाता है।, नाशपाती अपनी उपलब्धता और स्वाद के अलावा, हजारों सालों से औषधीय लाभ के लिए भी उपयोग की जाती रही है। नाशपाती में मौजूद खनिज, विटामिन और आर्गेनिक कंपाउंड सामग्री स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होती है। नाशपाती में कुछ सक्रिय और प्रभावी घटक जैसे पोटेशियम, विटामिन-सी, विटामिन K, फिनालिक कंपाउंड, फोलेट, आहार फाइबर, तांबा, मैंगनीज, मैग्नीशियम के साथ साथ बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन भी हैं।, मानव पाचन में जूसी और रेशेदार नाशपाती फल की एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। एक सिंगल सर्विंग के साथ नाशपाती से हमें दैनिक आवश्यकता का 18% फाइबर मिलता है। नाशपाती पाचन स्वास्थ्य और पाचन कार्य के लिए एक बहुत मजबूत एजेंट हो सकती है। यह गैस्ट्रिक और पाचन के रस के स्राव को उत्तेजित करती है ताकि खाद्य पदार्थ अधिक चिकना हो और अधिक जल्दी पच जाएँ। यह आँतों के कार्यों को नियंत्रित करती है जिससे कब्ज की संभावना कम हो जाती है। इसमें मौजूद पेक्टिन दस्त और कब्ज को ठीक कर सकता है।, विभिन्न फलों के बारे में कुछ लोगों को कैलोरी सामग्री और उनमें मौजूद प्राकृतिक शर्करा से शिकायत होती है। हालांकि, नाशपाती सबसे कम कैलोरी फलों में से एक हैं। एक औसत नाशपाती में 100 से अधिक कैलोरी हैं, जो एक स्वस्थ आहार की दैनिक कैलोरी का 5% है। हालांकि इसमें मौजूद फाइबर से आपको अपना पेट भरा हुआ महसूस होता है। इसलिए जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं उनके लिए नाशपाती बहुत ही अच्छा फल। वजन और मोटापे पर कम प्रभाव के साथ यह एक उच्च-ऊर्जा, उच्च-पोषक आहार है।, (और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट), नाशपाती में एंटी कैसरोजेनिक गुण होते हैं और यह कई विभिन्न प्रकार के कैंसर की रोकथाम से जुडी हुई है जिनमें कोलन, मलाशय, स्तन, प्रोस्टेट और फेफड़े के कैंसर शामिल हैं। नाशपाती में हाइड्रोऑक्सीनॉमिक एसिड होता है जो पेट के कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद फाइबर पेट के कैंसर को बढ़ने से रोकता है। कई अन्य फलों की तुलना में नाशपाती में बहुत अधिक एंटीऑक्सिडेंट पाएं जाते हैं।, नाशपाती धूम्रपान करने वाले लोगों के लिए बहुत मददगार हो सकती हैं। धूम्रपान करने वाले धूम्रपान करने के बाद नियमित रूप से नाशपाती के सेवन से कैंसर से छुटकारा पा सकते हैं। विशेषज्ञों के पैनल के एक शोध के मुताबिक, धूम्रपान मानव शरीर के अंदर कैसिनोजेनिक पदार्थ को बढ़ावा दे सकता है। ये कैंसरजनक पदार्थ शरीर से आसानी से हटाए नहीं जा सकते हैं। हालांकि, अगर धूम्रपान करने वाले लोग धूम्रपान के बाद नाशपाती का सेवन करते हैं तो विषाक्त पदार्थों को तुरंत शरीर से मूत्र के माध्यम से नष्ट कर दिया जा सकता है। नाशपाती के पेड़ के पत्ते चाय के लिए महत्वपूर्ण स्रोत हैं। इसकी चाय के द्वारा मूत्रमार्ग, सिस्टिटिस और यूथथ्रल कैलकुस जैसी बीमारियों से निपटा जा सकता है।, (और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार), इसी तरह इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन-सी की गतिविधियों से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली भी को बढ़ाया जाता है। विटामिन सी लंबे समय से प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि यह सफेद रक्त कोशिका उत्पादन और गतिविधि को उत्तेजित करता है। परंपरागत रूप से, नाशपाती जैसे फलों को सामान्य सर्दी, फ्लू या अन्य कई हल्के बीमारियों जैसे सामान्य स्थिति में खाने की सलाह दी जाती है। इससे एक त्वरित प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है।, (और पढ़ें - मसालेदार खाना करे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत). Newer Post Older Post Home. Nashpati or Pear health benefits in hindi . Pear Fruit Benefits in Urdu | Nashpati Ke Fayde | Read exclusive health benefits of pear and how to use it to fight certain diseases.. नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in Hindi - November 25, 2020; ब्लैक राइस खाने के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Black Rice (Forbidden Rice) in Hindi - November 24, 2020 नाशपाती के फायदे (nashpati ke fayde) नाशपाती के फायदे (nashpati ke fayde) बहुत ही बेशकीमती होते हैं. HealthGiftedTv. नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान Pears (Nashpati) Benefits and Side-Effects in Hindi नाशपाती खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of … जीरे के पानी के फायदे करें पाचन प्रक्रिया को बेहतर - Cumin Water for Digestion in Hindi नाशपाती एक मौसमी फल है. कमल का बीज या मखाने में 9.7% आसानी से पचनेवाला प्रोटीन, ... मखाने के नुकसान – Makhana ke nuksan in hindi. नाशपाती के फायदे और उपयोग (Nashpati Khane ke Fayde in Hindi) 1. 0:48. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नाशपाती के फायदे (Nashpati ke fayde) बहुत है. नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi, नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi, नाशपाती के फायदे गर्भावस्था में – Benefits of eating pears during pregnancy in hindi, नाशपाती के गुण कब्ज दूर करने में लाभकारी – Nashpati Ke Fayde for Constipation in hindi, नाशपाती के फायदे वजन कम करने के लिए – Pears benefits weight loss in hindi, नाशपाती के लाभ मुँहासों के लिए – Pears Good For Acne in hindi, नाशपाती के फायदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए – Pears Benefits for Lower Cholesterol in hindi, नाशपाती के औषधीय गुण मधुमेह के लिए – Pears Good for Diabetes in hindi, नाशपाती फल के फायदे पथरी को नष्ट करने में – Pears for Kidney Stones in hindi, नाशपाती के फायदे ऑयली स्किन के लिए – Pears Good for Oily Skin in hindi, नाशपाती खाने के फायदे गले की खराश को ठीक करने के लिए – Nashpati for Sore Throat in hindi, नाशपाती के फायदे पेट की खराबी में – Pear fruit benefits for Upset Stomach in hindi, नाशपाती के लाभ बालों के लिये – Pears Good for Hairs in hindi, नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi, मुहांसे दूर करने के लिए चेहरे पर भाप लेने के फायदे, पथरी होना क्या है? Nashpati Khane Se Jar Se Khatam Ho Jayen Gi Yeh 10 Bemariyan l Nashpati Ke Fayde नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi, यह अपने ला जबाव स्‍वाद के साथ कई औषधीय गुणों को अपने में समेटे हुए है, नाशपाती में मौजूद आर्गेनिक पोषक तत्व विटामिन और खनिज हमारे बेहतर स्‍वास्‍थ के लिए आवश्यक होते है। इसमें कुछ प्रभावकारी और सक्रीय घटक जैसे पोटेशियम, फिनालिक कंपाउंड, फोलेट, फाइबर, तांबा, मैंगनीज, विटामिन-C, विटामिन-K, विटामिन बी-कॉम्‍प्‍लेकस, एंटीऑक्सिडेंट, फ़िटेनियोटेंट्स, फ्लेवोनोइड्स, के साथ फाइबर जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते है पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत होने के कारण यह कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है, गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने और अपने बच्‍चे के स्‍वास्‍थ के लिए जरूरी आहार लेना आवश्‍यक हो जाता है, ऐसे में नाशपाती एक अच्‍छा विकल्‍प होता है। गर्भावस्था के समय नाशपाती का नियमित सेवन करने से स्‍तनपान के समय आने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। इसमें कई ऐसे पोषक तत्‍व है जो बच्‍चों के समग्र विकास के लिए आवश्यक है जो मां और बच्चे दोनों को पर्याप्त ऊर्जा उपलब्ध कराते है। नाशपाती में फोलिक एसिड (Folic acid) पाया जाता है जो न्‍यूरल टयृब जैसे दोषों को दूर करता है, अगर आप कब्ज की समस्या से परेशान है तो नाशपाती का नियमित उपयोग करने से आपको कब्ज से राहत मिल सकती है क्योंकि इसमें पेक्टिन (Pectin) नामक पदार्थ होता है जो हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसलिए पाचन तंत्र को ठीक रखने और कब्ज से बचने के लिए आप नाशपाती का सेवन करें, क्‍या आप मोटापा से परेशान है और उसके लिए किसी प्रकार डाइट प्‍लान या व्‍यायाम कर रहे है तो उसमें नाशपाती को शामिल कर लीजिए यकीन मानिये ये आपके बढते हुए बजन को कंट्रोल करने में आपकी बेहद मदद करने वाला है क्‍योकि एक नाशपाती में केवल १०० से ११० कैलोरी होती है इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। जब आप वजन कम करने की सोच रहे है तो भूख लगने पर एक नाशपाती खाएं जो आपकी भूख को शांत करने के साथ आपके वजन पर नियंत्रण रखेगा। यह स्वस्थ वजन के साथ ही साथ ह्दय रोगों के खतरों को भी कम करता है।, मुँहासे एक सुंदर चेहरे को किस प्रकार से प्रभावित कर सकता है यह आप जानते ही है। नाशपाती का उपयोग करके आप इनसे छुटकारा पा सकते है। नाशपाती में उच्च श्रेणी के विटामिन और खनिज उपलब्‍ध होते है जो त्‍वचा में उपस्थित ऐसिड को नष्‍ट करने और त्‍वचा के पीएच संतुलन बनाने का कार्य करते है। नाशपती का जूस शरीरी में मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करता है। और प्रोटीन और वसा के पाचन में सहायता करता है इससे शरीर को शुद्ध करने में मदद मिलती है और विषाक्‍त पदार्थो के निर्माण को रोकने में भी मदद मिलती है, (और पढ़े – मुहांसे दूर करने के लिए चेहरे पर भाप लेने के फायदे), कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना ह्रदय रोग का खतरा पैदा करता है नाशपाती का उपयोग हृदय रोगी के लिए बेहद लाभदायक होता है। नाशपाती में फाइबर अधिक मात्रा में होता है जो कोलेस्‍ट्रोल को कम करने में सहायक होती है नाशपाती के छिल्‍को में पेक्टिन होता है जो कॉलेस्‍ट्रोल को कम करता है इसलिए नाशपाती के छिल्‍के के साथ खाने की सलाह दी जाती है। कई अध्‍ययनों में यह पाया गया है कि यदि हम भोजन में फाइबर की उचित मात्रा का सेवन करे तो यह हमारे शरीर से अतिरिक्त कोलेस्‍ट्रोल को कम कर देता है ।, नाशपाती में उपलब्ध फाइबर प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर आंतों की सूजन को नियंत्रित करता है और हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर और मोटापे, सूजन आदि से संबंधित खतरों को कम करने में सक्षम है।, अगर आपको मधुमेह या शुगर है तो आप नाशपाती का सेवन करें, हो सकता है आपके डॉक्‍टर भी आपको यही सलाह दें क्‍योंकि नाशपाती में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी दोनों ही कम मात्रा में होते है। कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी का नियंत्रित सेवन खून में शुगर स्‍तर को संतुलित रखने में मदद करता है । खून में शर्करा की मात्रा अधिक होने से मधुमेह रोग से ग्रसित होने की संभावना बढ़ जाती है। नाशपाती का उपयोग हम स्‍वादिष्‍ट औषधी के रूप में कर सकते है आप इसका उपयोग अपनी सुविधा और रुचि के अनुसार कर सकते बस ध्‍यान रखे कि उसमें मिलाए जाने वाले खाद्य चीनी और वसा मुक्‍त हो।, नाशपाती उन व्यक्तियों के लिए लाभकारी फल है जो पेट होने वाली पथरी के रोग से पीडित है। कैल्शियम ऑकसलेट गुर्दा के पत्‍थरों को विकसित करता है ऐसी स्‍थती में नाशपाती के पाऐ जाने वाला मैलिक ऐसिड गैस्‍ट्रोथोन को रोकने में मदद करता है, जिससे पित्‍ताशय में बनी पथरी मैलिक ऐसिड से धीरे-धीरे घुलने लगती है। इसलिए पथरी से ग्रसित व्यक्ति को उन खाद्य पदार्थो से बचना चाजिए जिनमें ऑकसलेट बहुत अधिक मात्रा में हो। आप गुर्दे की पथरी के लिए नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि इसमें ऑक्‍सलेट की मात्रा बहुत कम होती है।, (और पढ़े – पथरी होना क्या है? इस फल को अपने आहार में ज़रूर शामिल कर लें. नाशपाती एक ऐसा फल है जिससे सभी लोग परिचित तो होते है, लेकिन उन्हें नाशपाती के फायदे पता नहीं होते है इसलिए आज हम आपको इसके उन गुणों के बारे में बताने जा रहे है जिन्हें जानकर आप इसे खाएं बिना नहीं रह पायेंगे। आप भले ही इसे एक साधारण फल के रूप में जानते हों पर इसमें इतने सारे औषधीय गुण होते जो सीधे आपके स्वास्थ्य पर प्रभाव डालते है। अगर आपको यह पता नहीं तो चलिए हम आपको इसके बारे में बताते है आइये जानते है नाशपाती के फायदे और नाशपाती के नुकसान के बारे में।, जैसा की हम जानते गर्मीयों का मौसम आते ही हमें शीतल पेय की जरूरत का अनुभव होने लगता है। नाशपाती हमारे शरीर में पानी की कमी को कम करता है साथ ही साथ इसमें बहुत से औषधीय गुण भी उपलब्‍ध होते है जो हमे शारीरिक और मानसिक रूप से फायदा पहुंचाते है।, 1. racipies. Dosto aur bhi bahut se fayde hai nashpati ke sevan karne se aiye jante hai. Nashpati bawaseer ke … जीरे के पानी के फायदे - Jeere ke Pani ke Fayde in Hindi. nashpati fruit in hindi, nashpati ke fayde, nashpati ke nuksan, pear fruit in hindi, about pear fruit in hindi, Avocado, about Avocado, benefits of Avocado, side effects of Avocado, nashpati in hindi, pear in hindi, nashpati ke fayde aur nuksan, naspati benefits, nashpati side effects, nashpati … नाशपाती के फायदे इन हिंदी बताये? Add Comment. नाशपाती के फायदे है पाचन में सहायक - Pears Good for Digestion in Hindi; नाशपाती के लाभ वजन कम करने के लिए - Pears Reduce Weight in Hindi Sonf Ke Fawaid (Faiday) in Urdu | Urdu Totkay By Zubaida Apa. High blood pressure mein nashpati ka use bara mufeed hai. Badan ko farba karti hai, taza khoon paida karti hai. Bukhar dur kare – Nashpati ke istemal se bukhar me bhi rahat milta hai isliye sabhi ko nashpati ka sevan karna chahiye. Post navigation ← Jamun Khane Ke Fayde Nashpati Khane Ke Fayde → 1:22. Waise ek baat aapko bataye ki nashpati ke sevan se humare sarir me pani aur khoon ki kami nahi hoti aur isme paryapt matra me poshak tatwa milte hai. Nashpati Ke Fayde In Hindi Bataye? Nashpati peshab ki jalan ko door karti hai. (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम. (और पढ़ें - ज्वार के फायदे हृदय स्वास्थ्य के लिए), विटामिन सी शरीर के विभिन्न अंगों और सेलुलर संरचनाओं में नए ऊतक को संश्लेषित (synthesizing) करने का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह शरीर के चयापचय को सुचारू रूप से चलाने और सभी कार्यों को ठीक से संचालित करना सुनिश्चित करता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद घाव भरने वाला एसिंर्बिक एसिड चोटों और बीमारियों से होने वाली छोटी चोटें, कट्स और इंजरीज को तेजी से भर सकता है। यह क्षतिग्रस्त रक्त वाहिकाओं की रिपेयर में भी मदद करता है, जिससे हृदय प्रणाली पर तनाव को कम होता है।, (और पढ़ें - गोटू कोला है घाव को जल्दी भरने में लाभकारी), ऐसे रोगियों के लिए जो एनीमिया या अन्य खनिज की कमी से पीड़ित हैं उनके लिए नाशपाती अपनी तांबे और लोहे की सामग्री के कारण बहुत सहायक हो सकती है। कॉपर शरीर में खनिजों की तेजता को बेहतर बनाता है और बढ़ाता है। और लोहे के स्तर में बढ़ोतरी का मतलब है कि शरीर में लाल रक्त कोशिका के संश्लेषण का बढ़ जाना। आप थकान, संज्ञानात्मक खराबी, मांसपेशियों की कमजोरी आदि के लिए इसका सेवन बहुत ही अच्छा होता है।, (और पढ़ें – जीरा वाटर बेनिफिट्स करें एनीमिया का इलाज), फोलेट नाशपाती का अन्य मूल्यवान पोषण घटक हैं। नवजात शिशुओं में न्यूरल ट्यूब दोषों (neural tube defects) में कमी के साथ फोलिक एसिड का सकारात्मक संबंध रहा है, इसलिए नाशपाती जैसे फोलेट-समृद्ध फल खाने से आपके बच्चे के स्वास्थ्य और खुशी की रक्षा हो सकती है, इसलिए गर्भवती महिलाओं को हमेशा अपने फोलिक एसिड स्तर पर निगरानी रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।, (और पढ़ें - आयुर्वेद कहता है नई माताएं इन बातों पर देकर विशेष ध्यान करें अपनी देखभाल), नाशपाती की एंटीऑक्सीडेंट और फ्लैवोनॉइड घटक भी शरीर में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव को प्रेरित करते हैं और सूजन वाले रोगों के साथ जुड़े दर्द को कम कर सकते हैं। इसमें गठिया, रूमेटिक कंडीशन, गाउट और इसी तरह की स्थितियों के लक्षणों में कमी शामिल है।, नाशपाती की उच्च खनिज सामग्री जिसमें मैग्नीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, कैल्शियम और तांबे शामिल हैं। यह सामग्री हड्डियों के खनिज नुकसान और दुर्बल करने वाली कंडीशंस जैसे ऑस्टियोपोरोसिस और शरीर की सामान्य कमजोरी को कम कर सकती है।, (और पढ़ें - सूर्य के प्रकाश के लाभ रखें हड्डियों को मजबूत), मानव शरीर में सबसे बहुमुखी विटामिन में से एक है विटामिन ए। नाशपाती विटामिन ए में उच्च होती है। नाशपाती त्वचा पर उम्र बढ़ने के प्रभाव को कम कर सकती हैं जैसे झुर्रियाँ और उम्र के धब्बे। इस शक्तिशाली फल से बालों के झड़ने, मैकुलर डिजनरेशन (धब्बेदार अध: पतन), मोतियाबिंद और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से जुड़े अन्य कंडीशंस को भी कम किया जा सकता है।, (और पढ़ें - इस चमत्कारी मिश्रण से होंगी आँखों की झुर्रियाँ हमेशा के लिए दूर), नाशपाती में आयोडीन की प्रचुर मात्रा होती है जो मरीजों को घेंघा बीमारी को कम करने में मदद करता है। बूढ़े लोगों को आंतरिक अंगों को फ़िल्टर करने के लिए नियमित रूप से नाशपाती को सेवन को बढ़ावा देना चाहिए। यह कैल्शियम को स्टोर करने और रक्त वाहिकाओं को नरम करने में भी मदद करता है। नाशपाती की उचित खपत से अपच, गाउट, एनीमिया, कब्ज और कुपोषण जैसे विभिन्न रोगों को छुटकारा पाने में प्रभावी ढंग से मदद मिल सकती है।, फाइबर से भरपूर नाशपाती मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छा फल है। इसलिए जिन शुगर पेशेंट को मीठा खाने की इच्छा होती है यह उनके लिए बहुत गुणकारी होता है। इसमें मौजूद नेचुरल शुगर को रक्त धीरे अवशोषित कर लेता है। नाशपाती में लेवल्ज़ (Levulose) होता है जो एक प्राकृतिक शुगर का एक रूप है। इससे आपका रक्त शर्करा का स्तर नहीं बढ़ता है।, कुछ बच्चों को ग्रीष्मकाल में सांस लेने में समस्या होती हैं जिनसे बड़ी समस्याएं हो सकती हैं। नाशपाती का नियमित सेवन करने से इस समय को ठीक करने में मदद मिलती है।, (और पढ़े – च्यवनप्राश खाने के फायदे श्वसन प्रणाली के लिए), नाशपाती को छिलके समेत धो कर अच्छे से चबा कर खाना चाहिए। लेकिन इसके छिलके को जल्दबाजी में बिना चबाये खाने से पाचन तंत्र पर प्रभाव पड़ सकता है जिससे कई बार पेट में दर्द हो जाता है।, नाशपाती को काट कर अधिक देर तक रख कर नहीं खाना चाहिए। क्योंकि हवा के सम्पर्क में आने पर यह भूरे रंग का हो जाता है जो नुकसानदेह हो सकता है।, ठंड में गला बैठने, बुखार, दस्त होने पर रोगी को नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए। (और पढ़ें – बुखार के घरेलू उपचार), नाशपाती खरीदते समय ध्यान रखना चाहिए कि नाशपाती न अधिक मुलायम हो और न ही अधिक सख्त। नाशपाती से मीठी खुशबू आनी चाहिए। नाशपाती को खरीदने के दो तीन दिन तक खा लेना चाहिए।, अस्वीकरण: इस साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।.

Best Places To Eat In Fontainebleau, France, Minot Property Management, Bower Vs Npm Install, Life Of A Medical Student Singapore, Black And Decker Bypass Pruner, Brown Silk Background,

Leave a Reply